Sunday, 24 January 2016

हिंदी में दो लाइन शायरी

चाँद का क्या…


चाँद का क्या कसूर अगर रात बेवफा निकली,
कुछ पल ठहरी और फिर चल निकली,
उन से क्या कहे वो तो सच्चे थे,
शायद हमारी तकदीर ही हमसे खफा निकली |

Friday, 27 November 2015

दर्द भरे शेर


कोई दिखा कर…


कोई दिखा कर रोये,
कोई छुपा कर रोये,
हमें रुलाने वाले हमें रुला कर रोये,
मरने का मज़ा तो तभी है यारो…
जब कातिल भी जनाज़े पर आकर रोये |

Sunday, 18 October 2015

दिल का हाल शायरी

दिल का हाल….

मत पूछो मेरे दिल का हाल
आपके दिल भी बिखर जाएँगे
इस लिए नही सुनाते अपने दिल का दर्द किसी को
ये सुनके तो तन्हाई के भी आँसू निकले…

Thursday, 8 October 2015

लव सायरी


ए रात मेरी तनहाई देख कर,
मुझ पर मत हंस इतना वरना,
जिस दिन मेरा यार मेरे साथ होगा,
तू पल में गुज़र जायेगी.

Saturday, 19 September 2015

शायरी लव की


तुमको मिलके

तुमको मिलके बीते हूए कल की याद आने लगी,
ज़िन्दगी जीने की तम्मना फिरसे खिल उठी,
लेकिन जब तुम्हारे लबो के किसी और का नाम सुना तो,
ज़िन्दगी में फिर से अमावस का अँधेरा च गया!

Wednesday, 2 September 2015

लव शायरी इन हिंदी

 लव...

 

तुमको मिलके बीते हूए कल की याद आने लगी,
ज़िन्दगी जीने की तम्मना फिरसे खिल उठी,
लेकिन जब तुम्हारे लबो के किसी और का नाम सुना तो,
ज़िन्दगी में फिर से अमावस का अँधेरा छा गया

Sunday, 5 July 2015

Two line shayari on life

हमें तुमसे मोहब्बत करनी है , तुझे मुझसे नफ़रत ही सही !
गर, ये प्यार है इक-तरफ़ा , तो ये प्यार इक तरफ़ा ही सही !!

मेरे मेहबूब ने पढें जब ये शेर, तो ये सवाल था उसका !
तेरे शेरों में क्युं है इतना दर्द क्या है राज़ इसका !!

कोई ये पुछे उनसे के मौत का पैमाना क्या है !
जो हर बात पर अक्सर कह देते है, "अरे मर गये" !

उठाकर मुसीबतें ज़िन्दगी की जी रहा आदमी क्युं है !
गर, बोझ है ज़िन्दगी तो ज़िन्दगी से मोहब्बत क्युं है !!

अब तेरे शरमानें की हकीकत "फ़राज़" जानीं मैनें !
फ़रेब देना हो किसी को तो, बस्स मुस्कुराना चाहिये !