Wednesday, 4 September 2013

दोस्ती का रिश्ता



तारों में अकेले चाँद जगमगाता है,
  मुश्किलों में अकेला इन्सान डगमगाता है,
काँटों से मत घबराना मेरे दोस्त,
  क्योंकि काँटों में ही एक गुलाब मुस्कुराता है