Thursday, 30 April 2015

दर्द भरी शायरी हिन्दी मे


आज हम उनको बेवफा बताकर आए है!
उनके खतो को पानी में बहाकर आए है .
कोई निकाल न ले उन्हें पानी से…
इस लिए पानी में भी आग लगा कर आए है !

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.